Skip to main content

IndGovtJob.Info

Government Job | Results | Admit Cards

IAS की तैयारी कैसे करे बिना कोचिंग के - जानिए पूरी जानकारी हिंदी में

IAS की तैयारी करे बिना कोचिंग के - जानिए पूरी जानकारी हिंदी में 

IAS की तैयारी कैसे करे

IAS बनने का सपना देखने वाले अकसर छात्र यही सोचते हैं कि घर पर Civil Services के एग्जाम की तैयारी कैसे शुरू की जाए। सिविल सर्विसेज एग्जाम की तैयारी के लिए Direct कोचिंग Class में चले जाना ही शुरुआती रणनीति नहीं होनी चाहिए। आइए आज जानते हैं कि आप कैसे तैयारी की शुरुआत कर सकते हैं।

IAS की तैयारी कैसे करे बिना कोचिंग के - जानिए पूरी जानकारी हिंदी में

भारतीय नागरिक सेवाओं में अधिकारियों को शामिल करने के लिए यूपीएससी हर साल सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करता है। एक बार भर्ती होने पर, अधिकारी विभिन्न प्रशासनिक सेवाओं जैसे आईएएस (IAS), आईपीएस (IPS), आईआरएस (IRS), आईटीएस (ITS), आईडीईएस (IDES), आदि में और विदेश सेवाओं में भी सेवा करेंगे। इस क्षेत्र में एक कैरियर दिलचस्प, संतोषजनक और चुनौतीपूर्ण भी होगा यही वजह है कि इसकी भर्ती प्रक्रिया भी कठोर है। इन सेवाओं में चयनित होने के लिए उम्मीदवार को यूपीएससी की Civil Service Exam पास करना होगा।

IAS एक बहुत ही सम्मानजनक और गर्वपूर्ण नाम है जिसे गांव से लेकर शहर सभी जानते हैं इन्हें हिंदी में अफसर और अंग्रेजी में ऑफिसर कहा जाता है यह एक सिविल सेवा है और इसकी शुरुआत 1850 के दशक में हुई थी IAS बनने के लिए एक बहुत ही कठिन प्रतियोगिक परीक्षा उत्तीर्ण करना होता है जिसे हर वर्ष UPSC आयोजित करती है UPSC परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद IAS, IPS और IFS जैसे 25 से भी ज्यादा पदों पर नियुक्ति मिल सकती हैं UPSC से IAS परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद अलग अलग जोन में भेजा जाता है इसमें भी DM और SDM जैसे बहुत से पद होते हैं जिसे रैक के हिसाब से सुनिश्चित किया जाता है

IAS की पोस्ट पाने के लिये मेहनत के साथ साथ दिमाग का भी अत्यधिक उपयोग करना होता है क्योंकि IAS के लिए संघर्ष करने वाले विद्यार्थियों में से 1 से 2 प्रतिशत विद्यार्थियों का ही सपना सच होता है यदि आप IAS बनने की चाह रखते हैं तो आपको तन, मन, धन, मेहनत और लगन से इसकी तैयारी करना होता है इस परीक्षा को तेज दिमाग वाले मेहनती और लगन वाले विद्यार्थी ही उत्तीर्ण कर पाते हैं


IAS की फुल फॉर्म क्या है? 

IAS का Full form - Indian Administration Service होता है। 

IAS - Indian Administration Service
UPSC - Union Public Service Commision
IFS - Indian Foriegners Service
IPS - Indian Police Service
DM - District Magistrate
IRS - Internal Revenue Service


IAS Eligibility (योग्यता

नागरिकता
IAS बनने के लिए आपकी नागरिकता भारत, नेपाल या भूटान की होना चाहिए

शैक्षणिक योग्यता
IAS की परीक्षा दकिसी भी स्ट्रीम से स्नातक होना चाहिए इसमें अधिक नंबर जरूरी नहीं है आप पासिंग नंबर से भी पास है तो भी आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं
उम्र सीमा
• सामान्य वर्ग के लिए उम्र सीमा 21 वर्ष से 32 वर्ष रखी गयी है
• ओ.बी.सी. वर्ग के लिए उम्र सीमा 21 वर्ष से 35 वर्ष होना चाहिये
• अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए उम्र सीमा 21 वर्ष से 37 वर्ष रखी गयी है
• शारीरिक रूप से अक्षम सभी वर्ग के विद्यार्थियों के लिए उम्र सीमा 21 वर्ष से 42 वर्ष है

महत्वपूर्ण लेख - जम्मू और कश्मीर के लिए पहले उम्र सीमा भिन्न थी लेकिन 5 अगस्त 2019 को अनुच्छेद 35अ और 370 के हटाये जाने के बाद पुराने नियम लागू नहीं होते हैं, इसीलिए अब वहां के लिए कोई अलग उम्र सीमा नहीं है

IAS में प्रयासों की सीमा
• सामान्य वर्ग के विद्यार्थी 6 बार तक प्रयास कर सकते हैं
• ओ.बी.सी. वर्ग के विद्यार्थियों के लिए प्रयासों की सीमा 9 बार है
• अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए प्रयासों की कोई सीमा नहीं है वे चाहे जितनी भी बार इस परीक्षा के लिए प्रयास कर सकते हैं
• शारीरिक रूप से अक्षम सामान्य और ओ.बी.सी. वर्ग के विद्यार्थियों के लिए प्रयासों की सीमा 9 बार है वहीं अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के शारीरिक रूप से अक्षम विद्यार्थियों के लिए प्रयासों की कोई सीमा नहीं है

IAS की तैयारी कैसे शुरू की जाये?

हम आपको क्रमशः बताएंगे कि IAS बनने के लिए आपको क्या करना होगा

1.12वी कक्षा
सबसे पहले आपको जरूरत होती है 12वी कक्षा उत्तीर्ण करने की ये मायने नहीं रखता की आपने किस विषय से 12वी कक्षा उत्तीर्ण की है, IAS बनने के लिए आपको मात्र किसी भी विषय से 12वी उत्तीर्ण करना होगा

2. स्नातक डिग्री
12वी कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद आपको किसी भी स्ट्रीम से स्नातक करना होगा और डिग्री हासिल करना होगा

3. UPSC Exam
स्नातक के बाद आपको UPSC की परीक्षा के लिए आवेदन करना होता है आप स्नातक के अंतिम वर्ष में भी UPSC की परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं IAS, IPS, IRS और IFS आदि की परीक्षा देने के लिए सबसे पहले UPSC की परीक्षा पास करनी होती है UPSC की परीक्षा तीन चरणों में होती है जिन्हें छोटे रूप में प्री, मेंस और इंटरव्यू कहा जाता है आइए विस्तार से समझते हैं

 Preliminary Exam 

UPSC की परीक्षा के लिए आवेदन करने के बाद जो प्रथम चरण है वो है Preliminary परीक्षा. इसमें 200 -200 अंक की दो परीक्षाएं होती हैं जिनमें वैकल्पिक प्रश्न पूछे जाते हैं. अगले चरण में जाने के लिये सबसे पहले आपको इस परीक्षा को निकालना होगा

 Main Exam 

Preliminary Exam देने के बाद Main Exam उत्तीर्ण करना होता है इसमें 9 परीक्षा होती हैं ये सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है इसमें अधिकतर लोग असफल हो जाते हैं इसे उत्तीर्ण करने के लिए कड़ी मेहनत की जरूरत होती है

 Interview 

Pre और Main परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद इंटरव्यू राउंड आता है यह 45 मिनट का होता है इंटरव्यू में बहुत ही कठिन प्रश्न किये जाते हैं इंटरव्यू के अंक भी जोड़े जाते है इंटरव्यू के हिसाब से रैंक दी जाती
आखिर में मैरिट लिस्ट जारी की जाती है और रैंक के हिसाब से पद दिए जाते हैं

आईएएस की तैयारी कैसे करे?

यदि आप भी IAS की तैयारी करना चाहते हैं तब आपको कुछ चीज़ों के विषय में पहले जानकारी होना बहुत ही आवश्यक होता है एक सही सोच और strategy (प्लानिंग) के साथ किया गया preparation हमेशा फलदायक होता है प्रत्येक वर्ष UPSC द्वारा आईएएस एग्जाम आयोजित किया जाता है

तैयारी शुरू करने के बारे में जानिए 

एक आईएएस Candidate को आईएएस तैयारी में अपने जीवन का कम से कम एक वर्ष देना होगा। इस समय के दौरान, उसे उन विषयों के साथ तैयारी शुरू करने की सलाह दी जाती है जो मुख्य और प्रारंभिक परीक्षाओं में होते हैं। एक योजना तैयार करें : चूंकि आप घर में तैयारी कर रहे हैं, इसलिये बिना किसी बाहरी मार्गदर्शन के आपको एक अध्ययन योजना बनानी चाहिए और इस ध्येय की पूर्ति के लिए आप को अपनी तैयारी के लिये पूरी तरह से वफादार होना चाहिए। आपको आपकी तैयारी से दर खींचने वाले भ्रम और प्रलोभन आयेंगे किंतु अपने आप से ईमानदार रहिये और याद रखें- "कुछ किये बिना ही जय जय कार नहीं होती, और कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।"

उम्र और योग्यता

यह बहुत ही अहम सवाल है क्योंकि सिविल सर्विसेज एग्जाम की तैयारी सही समय पर करनी चाहिए। बहुत जल्दी और बहुत देर से। यूपीएससी के डेटा के मुताबिक, सिविल सर्विसेज एग्जाम क्लियर करने वाले ज्यादातर कैंडिडेट्स 23-28 साल के होते हैं। आप इसी उम्र के आसपास तैयारी शुरू कर सकते हैं। अगर कोई 15 साल की उम्र से ही तैयारी शुरू कर दे तो यह बहुत जल्दी होगी। आमतौर पर जब आप ग्रैजुएशन के फाइनल ईयर में होते हैं तो 20-22 साल की उम्र में तैयारी शुरू कर देनी चाहिए।

सिविल सर्विसेज एग्जाम की Bacis को जानें

तैयारी शुरू करने से पहले आपको कुछ जरूरी जानकारी जुटानी चाहिए। जैसे सिविल सर्विसेज एग्जाम क्या होता है, इसके लिए योग्यता क्या है और कैसा पाठ्यक्रम होता है। बेसिक्स क्लियर होने के बाद आप सही से रणनीति बना सकते हैं। आईएएस प्रीलिम्स और मेन्स एग्जाम की तैयारी में फर्क होता है। प्रीलिम्स के लिए आपको बहुत सारी जानकारी चाहिए होगी लेकिन गहराई से नहीं। लेकिन मेन्स के लिए आपको किसी भी टॉपिक की बहुत गहराई तक जानकारी होनी चाहिए।

परीक्षा का प्रारूप

यह परीक्षा तीन चरणों में आयोजित की जाती है, जिनमें से प्रत्येक चरणों में उन उम्मीदवारों को खारिज कर दिया। जाता है जो उस चरण में पास नही हो सके। इस परीक्षा का पहला चरण यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा है, जिसे आमतौर पर आईएएस प्रिलिम्स या फिर यपीएससी प्रिलिम्स के नाम से जाना जाता है। यह संभवत: बाकी के दो। चरणों में सबसे आसान है, लेकिन उम्मीदवारों को इस परीक्षा में सफल होने के लिए एक योजनाबद्ध और समर्पित तैयारी करनी होती है।

यूपीएससी आईएएस Pre Exam का प्रारूप

प्रीलिम्स परीक्षा में दो ओब्जेक्टिव प्रकार (MCQ) के प्रश्न पत्र होते हैं।
• सामान्य अध्ययन : {जी-एस} (पेपर - 1)
• सिविल सर्विसेस एप्टीट्यूड टेस्ट : {सी-सैट} (पेपर - 2)

 परीक्षा का विवरण 


पेपर का नाम

General Studies (जीएस)- Paper 1

General Studies (जीएस)- Paper 1

कुल योग
200 Marks
200 Marks
समय सीमा
2 Hours

2 Hours

प्रश्नों की संख्या100 Question80 Question
निगेटिव मार्किंग

Yes
Yes
प्रश्न पत्र का प्रकार

Marks counted for ranking

Qualifying Only

अर्हता के लिए आवश्यक अंक
Cut-off prescribed by UPSC

33% (66/200)




सी-सैट पेपर - 2 में प्राप्त अंक पूर्व रैंकिंग के लिए जोड़े नहीं जाएंगे। यूपीएससी मेन परीक्षा के लिए अर्हता प्राप्त करने के लिए उम्मीदवारों को इस पेपर में कम से कम 33% स्कोर करना होगा। जी-एस पेपर 1 में प्राप्त अंक रैंकिंग में गिना जाएगा। इस पत्र में कट-ऑफ के अंक (आवश्यक न्यूनतम अंक) आयोग द्वारा निर्धारित किए जाएंगे और सिविल सर्विस प्रीलिम्स के परिणाम के बाद ही जनता को घोषित कर दिया जाता है।
नोट:- यूपीएससी उम्मीदवारों को प्रत्येक गलत उत्तर देने पर उस प्रश्न के लिए आवंटित अंकों के 1/3rd भाग को पेनल्टी के रूप में काट लेता है।

सही किताबों का चुनाव जरुरी 

तैयारी के लिए सही किताबों का चुनाव बहुत ही जरूरी है। आपको उन किताबों का अध्ययन करना चाहिए जो सीएस एग्जाम के लिए सुझाई जाए। आपको इन किताबों को दो बार पढ़ना चाहिए। पहली बार में तो एक-एक करके सारे चैप्टर पढ़ जाएं। दोबारा में सिर्फ अहम चैप्टरों को पढ़ें। अगर आप प्रीलिम्स या मेन्स से पहले इन किताबों का एक बार फिर अध्ययन कर लें तो काफी अच्छा होगा।

शेड्यूल बनाएं 

जब आप घर पर तैयारी शुरू करते हैं तो इस बात का डर रहता है कि आप आराम को तरजीह देंगे। इसके लिए आपको 10-12 महीने की योजना बना लेनी चाहिए। अपने समय को पेपर 1 और 2 में बांट लें। प्रीलिम्स का पेपर 2 सिर्फ क्वालिफाइंग नेचर का है, इसलिए उस पर बहुत ही ज्यादा फोकस न करें। इसकी बजाय आपको पेपर 1 यानी जनरल स्टडी पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए।

Newspaper और मैगजीन पढ़ें

अगर आपको मालूम नहीं हैं तो जान लें कि सिविल सर्विसेज के एग्जाम में करंट अफेयर्स और जनरल अवेयरनेस काफी मायने रखता है। पेपर 1 में करंट अफेयर्स और जनरल अवेयरनेस से कम से कम 30-40 सवाल आते हैं। इन चीजों को कवर करने के लिए आपको रोजाना अच्छे समाचार पत्र और मैगजीन का अध्ययन करना चाहिए।

आकलन करें

आपको बार-बार मॉक टेस्ट देना चाहिए। इससे आपको पता चलेगा कि आपकी तैयारी किस दिशा में जा रही है। उस हिसाब से आप अपनी रणनीति में भी बदलाव कर सकेंगे।

यदि आपको यह Post IAS की तैयारी कैसे करे पसंद आयी या कुछ सीखने को मिला तो कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Twitter, Whatsapp पर Share कीजिये